You are currently viewing कोलेस्ट्रोल क्या है – Symptoms of Cholesterol

कोलेस्ट्रोल क्या है – Symptoms of Cholesterol

अक्सर आपने कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने और घटने के बारे में सुना है लेकिन क्या आप जानते हैं कि कोलेस्ट्रॉल क्या होता है? – Symptoms of cholesterol और कोलेस्ट्रॉल बढ़ने या घटने से कौन-कौन सी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है? क्या आप जानते हैं कोलेस्ट्रोल के लक्षणों के बारे में। अगर नहीं जानते तो चलिए आज हम इस पोस्ट में कोलेस्ट्रॉल क्या होता है? और कोलेस्ट्रोल के लक्षण के बारे में जानेंगे।

Symptoms of Cholesterol

कोलेस्ट्रॉल का नाम आते ही लोगों के मन में एक ही बात आती है कि कोलेस्ट्रॉल लेवल हाई होना सेहत के लिए नुकसानदायक होता है। लेकिन क्या ये बात आप जानते हैं कि कोलेस्ट्रॉल लेवल का लो हो जाना भी उतना ही खतरनाक होता है, जितना हाई कोलेस्ट्रॉल होता है? आपको बताते चलें कि कोलेस्ट्रॉल सेल्स और हार्मोन्स के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसी के साथ विटामिन डी के अवशोषण में भी शरीर की मदद करता है। हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने के कारण जहां हार्ट अटैक, स्ट्रोक और हार्ट डिजीज का रिस्क बढ़ सकता है, वहीं कोलेस्ट्रॉल लेवल लो होने से कैंसर, याददाश्त खोने और अधिक गुस्सा आने जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

कोलेस्ट्रोल क्या है? – What is Cholesterol?

कोलेस्ट्रोल क्या है - Symptoms of Cholesterol
Symptoms of Cholesterol

यह एक वसा जैसा या मोम जैसा पदार्थ है, जो शरीर में कोशिका झिल्ली, कुछ हार्मोन और विटामिन डी बनाने के लिए महत्वपूर्ण है। कोलेस्ट्रॉल दो तरह का होता है- एलडीएल कोलेस्ट्रॉल और एचडीएल कोलेस्ट्रॉल। एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को गंदा माना जाता है क्योंकि यही शरीर में असली परेशानी की जड़ है जबकि एचडीएल कोलेस्ट्रॉल अच्छा होता है और शरीर के कई कामकाज में सहायक है।

कोलेस्ट्रॉल के लक्षण – Symptoms of cholesterol

 1.हाई बीपी

हाई ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या आजकल कॉमन होती जा रही है क्‍योंकि ये अब लाइफस्‍टाइल डिजीज बन चुकी है. हाई बीपी को भी हार्ट का दुश्‍मन माना जाता है. कई बार हाई बीपी की समस्‍या कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने के कारण भी होती है. ऐसे में आपको इस समस्‍या को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और कोलेस्‍ट्रॉल के स्‍तर की जांच करवानी चाहिए.

2.सांस फूलना

अगर आप चलने-फिरने में जल्‍दी थक जाते हैं और आपकी सांस फूलने लगती है या सीने में दर्द महसूस होने लगता है, तो भी आपको कोलेस्‍ट्रॉल की जांच जरूर करवा लेनी चाहिए. इसे भी कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने का लक्षण माना जाता है.

कोलेस्ट्रोल क्या है - Symptoms of Cholesterol
Symptoms of Cholesterol

 3.पैरों में सूजन

कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने पर पैरों में सूजन की शिकायत हो सकती है। यह इसके शुरुआती लक्षणों में से एक है।

 4.वजन बढ़ना

अगर आपका वजन अचानक से बढ़ गया है, तो भी आपको अपने खानपान पर विशेष रूप से ध्‍यान देना चाहिए और कोलेस्‍ट्रॉल की भी जांच समय-समय पर करवाते रहना चाहिए. वैसे भी मोटापे के कारण तमाम बीमारियां आपके शरीर को घेर सकती हैं.

कोलेस्ट्रॉल कम होने से होने वाली बीमारियां

कैंसर

कई मामलों में कोलेस्ट्रॉल लेवल के कम हो जाने से कैंसर की बीमारी हो सकती है। बता दें कि लो ब्लड लिपिड्स कई तरह के कैंसर का खतरा बढ़ा सकते हैं।

गुस्सा बढ़ाता है

तमाम शोधों में यह बताया गया है कि कोलेस्ट्रॉल का कम स्तर गुस्सा बढ़ाने में मददगार होता है। इसके अलावा यह लोगों में हिंसक प्रवृत्ति को भी बढ़ावा दे सकता है।

कोलेस्ट्रोल क्या है - Symptoms of Cholesterol
Symptoms of Cholesterol

याद्दाश्त पर प्रभाव

कोलेस्ट्रॉल याद्दाश्त के लिए बेहद महत्वपूर्ण होता है। ऐसे में कोलेस्ट्रॉल लेवल में कमी याद्दाश्त को कमजोर करने का काम करती है। कोलेस्ट्रॉल कम करने वाली दवाएं दिमाग की क्षमता को कम करने के लिए जानी जाती हैं।

गर्भावस्था

गर्भावस्था के दौरान अगर आपका कोलेस्ट्रॉल कम है, तो समय से पहले बच्चे का जन्म हो सकता है या जन्म के समय बच्चे का वजन कम हो सकता है।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

कोलेस्ट्रोल क्या है - Symptoms of Cholesterol
Symptoms of Cholesterol

क्यों बढ़ जाता है कोलेस्ट्रॉल?

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की समस्या अनुवांशिक कारणों से भी हो सकती है. लेकिन आमतौर पर इस समस्या का कारण सही जीवनशैली का अभाव होता है. इसलिए यह बात साफ है कि आप इस बीमारी को होने से रोक भी सकते हैं और होने के बाद इसे नियंत्रित भी कर सकते हैं.

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण क्या होते हैं?

शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से आपको कई लक्षण महसूस हो सकते हैं, जैसे पसीना आना, थकान होना, कमजोरी होना, भूख न लगना आदि। इनके अलावा कुछ ऐसे लक्षण भी हैं, जो आपको अपनी आंखों के अंदर या आसपास नजर आ सकते हैं।1

कोलेस्ट्रॉल कितना होना चाहिए?

शरीर में टोटल कोलेस्ट्रॉल का स्तर 200 mg/dl से कम होना चाहिए। एलडीएल यानी खराब कोलेस्ट्रॉल 100 mg/dl से कम, एचडीएल यानी अच्छा कोलेस्ट्रॉल 60 mg/dl से ज्यादा और ट्राइग्लिसराइड्स 150 mg/dl से कम होना बेहतर समझा जाता है।

कोलेस्ट्रोल क्या है - Symptoms of Cholesterol
Symptoms of Cholesterol

कोलेस्ट्रॉल कम होने से क्या दिक्कत होती है?

हालांकि कोलेस्‍ट्रॉल का कम होना हेल्‍थ की दृष्टि से बेहतर माना जाता है लेकिन कई कारणों से जब कोलेस्‍ट्रॉल सामान्‍य लेवल से कम हो जाता है तो कई बड़ी बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है. लो कोलेस्‍ट्रॉल लेवल से इंफेक्‍शन, सूजन और कुपोषण जैसी समस्‍याएं आ सकती हैं.

लो कोलेस्ट्रॉल का लक्षण क्या है?

​लो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के लक्षण
वसायुक्त मल
डिप्रेशन
दृष्टि परिवर्तन
हार्मोनल असंतुलन
वजन कम होना
बच्चों में बौद्धिक अक्षमता या संज्ञानात्मक हानि

 

 

Read More:

अंडा खाने के फायदे और नुकसान – Benefits and Side Effects of Egg

कोलेस्ट्रोल क्या है - Symptoms of Cholesterol
Benefits and Side Effects of Egg

RK16

Hi! I am Reshma.

Leave a Reply